मानव मस्तिष्क और उसके कार्य । Manav mastishk aur uske karye

 हैलो दोस्तों, स्वागत है सभी का हमारे वेबसाइट Rasoteach इसमें। आज के पोस्ट में मैं आपको मानव मस्तिष्क की संरचना एवं उसका कार्य के बारे में बताने वाली हूं।


मानव मस्तिष्क / Human brain और उसके कार्य

मस्तिष्क हमारे सेंट्रल नर्वस सिस्टम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। मस्तिष्क हमारी इच्छाओं, मन, बुद्धि, भूख, प्यास, तापमान इत्यादि को नियंत्रित करता है। Nervous system हमारे शरीर के सभी system को नियंत्रित करके रखता है जैसे digestive system, respiratory system, excretory system, brain, इत्यादि में मस्तिष्क / brain महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।



मस्तिष्क हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसे हमारे शरीर का कंट्रोल रूम कहा जाता है।  मस्तिष्क की रक्षा cranial bones करता है जिसकी संख्या आठ होती है, जो इस प्रकार है:-

1. Frontal bone जिसकी संख्या एक होती है।

2. Temporal bone जिसकी संख्या दो होती है।

3. Parietal bone जिसकी संख्या दो होती है।

4. Occipital bone जिसकी संख्या एक होती है।

5. Sphenoid bone जिसकी संख्या एक होती है।

6. Ethmoid bone इसकी भी संख्या एक ही होती है।


 Cranial bones के अंदर fibrous joints यानि कि रेशेदार जोड़ पाया जाता है जो बहुत मजबूत होता है। क्रेनियम फाइब्रोस ज्वाइंट को मजबूत बनाता है। Cranium के अंदर पतली झिल्ली यानी कि membrane होती है जिसे meninges कहते हैं जो एक प्लास्टिक के समान होता है। 


इसी के अंदर हमारा मस्तिष्क रहता है जिसका वजन 1350 ग्राम से लेकर 1400 ग्राम के बीच होता है। साधारण भाषा में हमारे मस्तिष्क पर बाल होते हैं उसके बाद त्वचा होती है फिर cranial bones होता है जिसके अंदर meninges होता है और meninges के अंदर मस्तिष्क होता है।

अगर कोई व्यक्ति कम चोटग्रसित होता हैं तो इसका असर मस्तिष्क पर नहीं पड़ता है। इसका असर cranium पर होता है। अगर cranium इतना चोट सह लेता है तो मस्तिष्क को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है परंतु अधिक चोट ग्रसित होने पर cranium के अंदर में meninges में पहुंच जाता है जिससे कि meningitis नाम की बीमारी से ग्रसित हो जाते हैं।

Fact :- राजा राम मोहन राय की मृत्यु meningitis नाम की बीमारी से लंदन में हुई थी।

न्यूरॉन मस्तिष्क का structural or functional unit होता है।

मानव मस्तिष्क के प्रमुख भाग / Main part of human brain

मानव मस्तिष्क को 3 प्रमुख भाग मे विभाजित किया जाता है: -

1. अग्र मस्तिष्क / 

 2. मध्य मस्तिष्क

 3. पश्च मस्तिष्क

1. अग्र मस्तिष्क / Forebrain

Forebrain, मस्तिष्क का front part होता है। इसके अंतर्गत cerebram, thalamus, hypothalamus आता है।

Must read:- Yollow फंगस की सम्पूर्ण जानकारी।

Cerebram का कार्य क्या है? 

Fore brain / अग्र मस्तिष्क का सेरेब्रम पूरे मस्तिष्क का दो-तिहाई यानी कि 66 प्रतिशत होता है। Cerebram को प्रमस्तिष्क भी कहते हैं। यह हमारे शरीर में memory power को विकसित करता है यानी कि जिन लोगों का Cerebram खराब रहता है उनके याद रखने का क्षमता भी अच्छा नहीं रहता है, वह किसी भी बात को जल्दी भूल जाते हैं इसलिए विद्यार्थियों के लिए सेरेब्रम का मजबूत होना बहुत आवश्यक है। तभी उनकी याददाश्त अच्छी रहेगी और वह किसी भी चीज को लंबे समय तक याद रख पाएंगे।

read:- Corona vaccine online registration and 100% sure slot booking

1. Cerebram voluntary activities को नियंत्रित करता है। 

2. यह हमारे ज्ञानेंद्रियों से आने वाली सूचनाओं को ग्रहण करने में मदद करता है। हमारे ज्ञानेंद्रियां पांच होती है आंख नाक कान त्वचा जिह्वा।

3. यह हमारे मानसिक कार्य का संचालन और नियंत्रण करता है जैसे सोचना तर्क करना विवेचना योजना बनाना याद रखना आदि।

Note :- thalamus और hypothalamus diencephalon के अंतर्गत आता है।

2.  Thalamus / चेतक

Thalamus हमारे शरीर के बाहरी चीजों का ज्ञान कराता है जैसे ठंडा, गर्म, शाबाशी कष्ट पीड़ा का आभास हमें thalamus कराता है। 

3. Hypothalamus का कार्य

यह हमारे शरीर के अंतर्गत खाना- पीना, भूख, प्यास, तापमान, घृणा, क्रोध, प्यार, काम का नियंत्रण होने के साथ-साथ शरीर के भीतर तरलो ( liquid) की मात्रा को भी control  करता है।

जिस व्यक्ति का हाइपोथैलेमस खराब होता है वह अपने जीवन में बहुत कम ही सफल हो पाता है। हाइपोथैलेमस के active होने पर मस्तिष्क का सभी भाग निष्क्रिय हो जाता है। 

यहां Thalamus / थैलेमस के ठीक नीचे होता है जो बहुत छोटा होता है।


Pituitary gland से निकलने वाले हार्मोन को hypothalamus नियंत्रित करता है।


2. मध्य मस्तिष्क / Mid brain

मध्य मस्तिष्क अग्र मस्तिष्क ( Forebrain) और पश्च मस्तिष्क ( hind brain) के बीच में स्थित है जिसका आकार tubular होता है और इस tubular संरचना को mesencephalon / मध्य मस्तिष्क कहा जाता हैं।

इसको दो भाग में विभाजित किया जाता है:-

Corpora और Cerebral peduncles

जहां कॉरपोरा देखने और सुनने के लिए उत्तरदाई होता है। कॉरपोरा के खराब होने से आंतरिक रूप से आंखों और कानों पर असर होता है।

मध्य मस्तिष्क 4 पिंडो से मिलकर बना होता है जिसे corporaquadrigemia कहते है।

ऊपर के दो पिंडों को tectum कहते हैं और नीचे के दो पिंडों को टेगमेंटम कहते हैं। जहां tectum देखने के लिए उत्तरदाई होता है और टेगमेंटम सुनने के लिए उत्तरदाई होता है।

Cerebral peduncles / प्रमस्तिष्क वृंतक :-

 यह मध्य मस्तिष्क / mid brain में पाया जाता है। cerebral peduncles cerebral cortex को मस्तिष्क के अन्य भागों को spinal cord से जोड़ता है।


पश्च मस्तिष्क / Hind brain  

 Hind brain मस्तिष्क का सबसे नीचे का भाग होता है जो हमारे मस्तिष्क के backside में होता है।

Hind brain / पश्च मस्तिष्क के प्रकार

पश्च मस्तिष्क के 3 भाग होते हैं:-

अनु मस्तिष्क / Cerebellum

पोंस / pons 

और medulla oblongata

अनु मस्तिष्क / Cerebellum

 Cerebellum हमारे शरीर के voluntary activities / स्वैच्छिक गति को नियंत्रित करता है। यह हमारे मस्तिष्क का दूसरा सबसे बड़ा भाग होता है।

 Cerebellum बैलेंस बनाने का कार्य करता है जैसे सर्कस में व्यक्ति द्वारा रस्सी पर बैलेंस बनाकर चलना।

पोन्स / Pons

पोन्स को metencephalon के नाम से भी जाना जाता है। श्वाश्न / respiration के विनियमन के लिए उत्तरदायी होता है। इसमें neurotoxic centre/ न्यूरोटॉक्सिक केंद्र नाम की संरचना पाई जाती है, जो श्वसन के दौरान वायु की मात्रा और श्वसन दर को कंट्रोल करता है।

Must know about yellow fungus ?

 Medulla oblongata / मेडुला ओबलोंगता :- 

Medulla oblongata पश्च मस्तिष्क / hind brain का भाग होता है। Medulla oblongata पोन्स के नीचे पाया जाता है जो spinal cord से जुड़ा रहता है।

यह अनैच्छिक क्रियाओं को नियंत्रित करता है। लार आना, उल्टी आना, heart beat, इत्यादि को यह नियंत्रित करता है। 

 आहार नल क्रमाकुंचन / peristalsis of alimentary canal के लिए भी यह उत्तरदायी हैं। इसे myelencephalon भी कहा जाता है, जो सांस लेने, निगलने खास में इत्यादि का केंद्र होता है।


दोस्तों, आज के पोस्ट में मैंने आपको मानव मस्तिष्क और उसके कार्य के बारे में बताया। मुझे उम्मीद है कि आपको इस पोस्ट से जानकारी मिली होगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। अपना सलाह और सुझाव हमें जरूर दें।

 धन्यवाद।

Post a Comment

0 Comments