Weight loss tips in hindi

Welcome to our website Rasoteach.com


आज के पोस्ट में आप जानेंगे कि आखिर क्यों नहीं घटता है आपका वजन? तमाम कोशिशों के बाद भी क्या आपका वजन कम नहीं हो पा रहा है? कहीं ऐसा तो नहीं कि आप की कोशिशों में ही कोई खामी है 🤔


Weight loss tips in hindi


वैसे तो अपने लुक्स के प्रति सजग रहना अच्छी बात है पर कुछ लोग अपने स्लिम ट्रिम फिगर को लेकर जरूरत से ज्यादा ही परेशान रहते हैं। 


Weight loss tips in hindi


क्योंकि उन्हें हमेशा वजन कम करने की चिंता लगी रहती है। वैसे ही वजन को लेकर महिलाओं की जद्दोजहद कोई नई बात नहीं है। 


शोध भी बताते हैं कि पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को वजन कम करने के लिए ज्यादा मशक्कत करनी पड़ती है। 


दरअसल, महिलाओं की शारीरिक संरचना और अनियमित जीवनशैली वजन बढ़ने के कुछ प्रमुख कारणों में से एक है। 


इसके अलावा अत्यधिक तनाव, क्रैश डाइटिंग और पूरी नींद ना लेना जैसे कारण भी महिलाओं का वजन बढ़ा देते हैं।


 अक्सर महिलाओं को यह भी शिकायत रहती है कि वजन कम करने के तमाम नियमों का ठीक से पालन करने के बाद भी कोई खास फायदा नहीं होता तो इसकी बहुत से कारण हो सकते हैं जिन पर ध्यान देने की जरूरत होती है।

 

फिटनेस का क्या अर्थ है?


फिट होने का अर्थ सिर्फ वजन कम करना नहीं है बल्कि फिटनेस हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता मांसपेशियों के लचीलापन शरीर से विषैले तत्व बाहर निकालना और हमारी बायोकेमिकल संरचना पर निर्भर करती है।


 सिर्फ वजन कम करने पर ध्यान देने के बजाय खुद को स्वस्थ और ऊर्जावान बनाने पर जोर दें। 


बालों को स्वस्थ कैसे रखा जा सकता है? हमें बाल कब कब कटवाने चाहिए बाल कैसे इशारा देती है कि हमें बालों को कटवाने की जरूरत है? 


विशेषज्ञों के अनुसार ज्यादा वजन वाले वह लोग भी फिट होते हैं जो शारीरिक रूप से काफी सक्रिय और ऊर्जावान होते हैं।


 इसके विपरीत कम वजन होने के बावजूद हमेशा फिट रहने वाली महिलाएं भी नहीं कही जा सकती हैं।


अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो निम्नलिखित बातों पर जरूर गौर करें और जाने क्यों नहीं घटता है आपका वजन:-


1. प्रोटिन की कमी


ज्यादा प्रोटीन वाली डाइट वजन नियंत्रण रखने में सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है। 


प्रोटीन युक्त आहार शरीर में मेटाबोलिस्म की रफ्तार को बढ़ा देते हैं, जिससे भोजन तेजी से ऊर्जा में बदलता है और लंबे समय तक पेट भरा रहता है।


 नाश्ते में अगर प्रोटीन युक्त आहार लें, तो ऊर्जा कम नहीं होती। बीच-बीच में कुछ खाने की इच्छा भी नहीं होती।


2. शामिल करें साबुत अनाज


सेहतमंद आहार स्वस्थ जिंदगी की कुंजी है। पर अक्सर लोग सोचते हैं कि भूखे रहकर भी वजन कम किया जा सकता है जबकि यह सच नहीं है। 


भूखे रहने के बजाय बेहतर होगा कि आप अपने आहार में साबुत अनाज की मात्रा बढ़ाएं। 

👉Dandruff को करें अब बाय बाय। क्या है इसके अचूक उपाय


बाजरा, जौ, दलिया और जई जैसे साबुत अनाज प्रोसेस्ड फूड की तुलना में ज्यादा लाभकारी होते हैं, में फाइबर भी देते हैं जिससे लम्बे समय तक पेट भरा रहता है।


3. कितना पिएं पानी।


एक व्यस्क को 1 दिन में कम से कम तीन से चार लीटर पानी पीना चाहिए, ताकि शरीर से विषैले तत्वों का निकास सुचारू रूप से होता रहे।


 अगर आप कम पानी पीती है तो इससे भी वजन कम करने की प्रक्रिया धीमी पड़ने लगती है।


कभी-कभी ऐसा भी होता है कि शरीर में पानी की कमी के संदेश को हमारा मस्तिष्क भूख लगने के संकेत के रूप में पढ़ता है। 


इसलिए जब कभी कुछ खाने की जरूरत महसूस हो तो पहले एक गिलास पानी पिए आप कुछ भी अतिरिक्त खाने से बच जाएंगे।


जानिए अंडे हमे किन किन बड़ी बीमारियों से बचाता hai ?


4. तनाव भी है बाधक


कई शोधों में पाया गया है कि अत्यधिक तनाव वजन बनाने लगता है। दरअसल, तनाव हमारे शरीर में कोर्टिसोल नामक hormone का स्राव बढ़ा देता है जिससे वजन बढ़ने लगता है।


 इसके अलावा थायरॉयड, पीसीओडी, मेनोपॉज, और शुगर की समस्या में भी वजन बढ़ने लगता है। 


ऐसे में अगर आप नियमित व्यायाम करें तो यह तनाव दूर करने के साथ साथ एड्रेनलीन नामक हैप्पी हार्मोन स्त्रावित करने लगता है और नींद भी अच्छी आती है।


 इससे शरीर का बायोलॉजिकल क्लॉक तो सुचारू रूप से कार्य करती ही है साथ ही वजन भी नियंत्रण में रहता है।



5. जागरूकता का अभाव

अकसर महिलाएं सोचती है की घर की साफ सफाई करने या बच्चों को संभालने से ही वे फिट रह सकती हैं तो ऐसा नहीं है। खुद को चुस्त रखने के लिए नियमित व्यायाम जरूरी है। 


इसी तरह डाइट फूड के नाम पर अक्सर महिलाएं बाजार का पैक्ड फूड जरूरत से ज्यादा सेवन करने लगती है जो ठीक नहीं है। घर के बने ताजा खाने का स्थान कोई भी डिब्बा बना आहार नहीं ले सकता। 


Also read :- खाली पेट चना खाना से क्या फायदा होता है?


हम सभी को कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, वसा और vitamins की अलग-अलग मात्रा की जरूरत होती है। बेहतर होगा कि विशेषज्ञ की सलाह देकर ही आप वजन घटाएं।


6. उम्र भी है कारण


किशोरावस्था और युवावस्था में हमारे शरीर के मेटाबॉलिज्म की रफ्तार काफी तेज होती है इसलिए अक्सर ज्यादा खाने के बावजूद भी वजन में कोई खास फर्क नहीं पड़ता।


 पर 40 तक आते-आते मेटाबॉलिज्म सुस्त पड़ने लगता है और वजन कम करना चुनौतीपूर्ण हो जाता है।


Must read

अगर आप चीटियो से है परेशान तो अब चिटियो को खाइए बाय बाय


बच्चे के जन्म के बाद बढ़ा हुआ वजन भी कुछ महिलाओं के लिए समस्या बन जाता है और मेनोपॉज के बाद भी अक्सर महिलाओं को बढ़ते वजन की समस्या परेशान करती है। ऐसे में छोटे - छोटे लक्ष्य निर्धारित करें और धीरे-धीरे वजन कम करने की कोशिश करें।


6. विटामिन डी की कमी

विशेषज्ञों के अनुसार शरीर में विटामिन डी की कमी भी वजन बढ़ने के महत्वपूर्ण कारणों में से एक है। लंबे समय तक एक ही जगह तक बैठे रहना और सोने की रोशनी के संपर्क में ना रहना मेटाबोलिज में की रफ्तार को कम कर देता है जिससे ग्रहण किया भोजन पूरी तरह बच नहीं पाता और अतिरिक्त फैट के रूप में शरीर में जमा होने लगता है। यदि लंबे समय तक ऐसा चलता रहा तो वजन कम करना काफी मुश्किल हो जाता है।


Weight loss tips in hindi


ध्यान में रखें यह बातें


1. डिब्बाबंद स्नैक्स और जंक फूड को खाने से बचें।


 डिब्बाबंद स्नैक्स और जंक फूड के बजाय ताजे फलों में सूखे मेवो और हरी सब्जियों को अपनी थाली में जगह दे।

Weight loss tips in hindi



2. देसी घी अपने आहार में शामिल करेंं।


 देसी घी में गुड फैट पाया जाता है जो हमारे शरीर को जरूरी पोषण देने के साथ वजन भी नियंत्रण में रखता है। इसलिए देसी घी अपने आहार में शामिल करें।


3. गुड़, या शहद, जैसी प्राकृतिक मिठास युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें।


रिफाइंड शुगर के बजाय गुड़,  या शहद, जैसी प्राकृतिक मिठास युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें।


4. हर बार चाय की जगह नारियल पानी नींबू पानी या ताजा फलों के रस ले।


5. सप्ताह में एक दिन पसंदीदा डिश सीमित मात्रा में खाएं।


पूरे हफ्ते कैलोरी पर ध्यान देने के बाद किसी एक दिन को 'चीट डे ' के रूप में रखें और उस दिन अपनी कोई पसंदीदा डिश सीमित मात्रा में खाएं।


6. खाना हमेशा छोटी प्लेट में लें और दूसरी सर्विंग लेने से बचें। भोजन में ऊपर से नमक ना डालें।


आहार की मात्रा पर रखें खास नजर


क्रैश डाइटिंग कर रही महिलाएं पूरे दिन कुछ नहीं खाती लेकिन एक वक्त के आहार में प्लेट इतना भर लेती है कि पूरे दिन के लिए आवश्यक कैलोरी से ज्यादा का सेवन एक बार में कर लेती है।


नतीजा यह होता है कि उनका वजन तेजी से बढ़ने लगता है इसके अलावा बच्चों को खाना खिलाते समय बचा हुआ खाना अपनी प्लेट में रख लेना या बासी खाना खुद खा लेना अनावश्यक चर्बी बनकर उनके पेट के चारों ओर जम जाता है। वैसे कई बार महिलाएं आलस में एक ही बार में काफी ज्यादा भोजन प्लेट में रख लेती हैं जिससे विवशता में उन्हें खाना ही पड़ता है या फिर सलाद से ज्यादा रोटी सब्जी का सेवन या स्वाद के चक्कर में पेट भर जाने के बावजूद भी खाते रहना वजन बढा देता है।

Post a Comment

0 Comments